सफेद दाग की चिकित्सा

गलित कुष्ट की जो चिकित्सा दी गयी उसे धर्मालय में देखिये वह सभी प्रकार के कुष्टो की चिकित्सा है , सफ़ेद दाग में अलग से एक लेप लगाये । यह …

Read More

गलित कुष्ट की चिकित्सा

यह वात रक्त है। यह रोग सामन्यतया असाध्य समझा जाता है इसका एक अत्यंत गुप्त इलाज हैं,जिसे हम आपके लिए दे रहे हैं। यह प्राचीन शास्त्रों का नुस्खा है और …

Read More

किये काराए की चिकित्सा में तीन ‘बा’

हमारे यहाँ बहुत सी ऐसी साधारण वस्तुए पायी जाती है; जो चिकित्सा विज्ञान में आश्चर्य जनक चमत्कारिक गुणों से युक्त है। इनका प्रयोग तन्त्र शास्त्र में होता रहा है; क्योंकि …

Read More

किये कराए से स्त्री-पुरुष-बच्चों की रक्षा

यहाँ केवल दूरस्थ क्रियाओं की रक्षा का विषय है। खिलाया-पिलाया स्थूल क्रिया है। उससे सुरक्षा का उपाय और संदेह होने पर प्राथमिक उपचार हम पहले बता आये है। नीबू – …

Read More

दूरस्थ वशीकरण क्रियाएं

मन्त्र – ॐ रक्त चामुंडे …….. में वशमानय कुरु कुरु स्वाहा। यह मंत्र 21000 जपने पर सिद्ध होता है। (साधना तत्व गोपनीय)। यह एक शाबर मंत्र है। शाबर मन्त्र में …

Read More

चमत्कारिक सिद्ध एवं प्राण प्रतिष्ठित यंत्र, ताबीज एवं गंडे

महाकाल भैरव धातु यंत्र – (यह यंत्र भवन, कार्यालय, दूकान, कक्षों, खेतों, तिजोरी, बागों के वृक्षों पर लगाने से; वहां की सभी बुरी शक्तियां भाग जाती है और उस स्थान …

Read More

ग्रह दोष निवारण यंत्र और ताबीज

ये सभी गोपनीय तांत्रिक मन्त्रों से सिद्ध किये गये हैं और धर्मालय द्वारा बताई गयी विधि से इनका उपयोग करने पर इन ग्रहों की शक्ति चमत्कारिक रूप से बढती है. …

Read More

मालाओं का रहस्य

सबसे श्रेष्ठ माला वर्णमाला है; जिसे शिव्सार (अनुस्वार) से संयुक्त करके शक्ति बीजों की उत्पत्ति होती है। इसके बाद महा शंख और इसके बाद स्फटिक की माला श्रेष्ठ समझी जाती …

Read More

हवन द्वारा मनोकामना पूर्ती

लक्ष्मी के बीज मन्त्र ‘श्रीं’ के साथ प्रारंभ में प्रणव ‘ॐ’ और ;ह्रीं’ लगाकर ‘क्लीं’ और इसके बाद ‘फट स्वाहा’ यानी ‘ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं फट स्वाहा’ मन्त्र से घी …

Read More

वशीकरण मन्त्रों की सिद्धि और प्रयोग की विधियाँ

जिन लोगों को इस विषय से रुचि नहीं या वे इसे मिथ्या समझते है; वे हमारी वेबसाइट के लिंक को क्लीक न करें।हमारी वेबसाइट प्राइवेट क्षेत्र है और यह विद्या …

Read More