उपर्युक्त सत्य की आध्यात्मिक व्याख्याएं

विष्णु का वैज्ञानिक रहस्य विष्णु का पहला अवतार तीन मुखो वाले परमाणु के केंद्र में यानी नाभिक में होता है। इसके ऊपर स्तर पर स्तर चढ़ता जाता है और ब्रह्माण्ड …

Read More

क्या दूसरे तारों के ग्रहों पर जीवन हो सकता है?

तत्व विज्ञान के अनुसार यह भी एक मूर्खतापूर्ण प्रश्न है। जीवन तो सर्वत्र है। हर परमाणु, हर पिंड में जीवन है; क्योंकि जीवन एक पॉवर-सर्किट का गुण है और यह …

Read More

क्या अन्य तारों के भी ग्रह हैं?

यह तत्व विज्ञान की दृष्टि में एक मूर्खतापूर्ण प्रश्न है। इस ब्रम्हांड में अपवाद नहीं हैं। तारा कोई भी होगा, उसका गृह होगा। जहां नेगेटिव होगा, वहाँ पॉजिटिव होगा और …

Read More

जीवन और चेतना का सूत्र

अतः पृथ्वी पर जंतु एवं वनस्पति जगत की उत्पत्ति अपवादात्मक उत्पत्ति नहीं है। यह भी उन्ही नियमों से उत्पन्न हुआ है, जिन नियमों से पृथ्वी, सूर्य या ब्रम्हांड की उत्पत्ति …

Read More

पृथ्वी पर जंतु एवं वनस्पति जगत का विकास

एक सीमा तक विकास करने के पश्चात सभी पिंड अपने नाभिकीय कणों क उत्सर्जन करते हैं। पृथ्वी ने भी अपने नाभिकीय कणों का उत्सर्जन किया और उनमें सूर्य के कण …

Read More

पृथ्वी जैसे गृह पर जंतु एवं वनस्पति जगत की उत्पत्ति

जीवन की उत्पत्ति क नियम ब्रम्हांड के सभी पिंड पॉजिटिव-नेगेटिव क्रम में एक दुसरे से जुड़े हुए हैं। हमारे सौर मंडल सूर्य, जो सौर मंडल की इकाई क नाभिक है, …

Read More

प्रथम परमाणु की प्रतिलिपियों का स्त्रोत

प्रश्न यह उठता है की मूलतत्व में तो केवल एक परमाणु उत्पन्न होता है। फिर इसके उपकेंद्रों में जो इसकी प्रतिलिपियाँ समाती हैं; वे कहाँ से आती हैं? इस प्रश्न …

Read More

पृथ्वी जैसे ग्रहों पर जीवन की उत्पत्ति का कारण

हमारी पृथ्वी पर जो जीव-जंतुओं एवं वनस्पतियों का जगत विकसित हो रहा है; उसने विश्व के वैज्ञानिकों की जिज्ञासा को सक्रिय कर रखा है। सभी जीवन के मूलभूत कारणों की …

Read More

संरचनाओं की विशिष्ट समानता और विशिष्ट कार्य

हम किसी भी प्राकृतिक इकाई को लें , उनमें बाहर से भीतर की ओर एक विचित्र समानता दिखाई देती है। आकृतियों में चाहें लाख भिन्नता हो, मगर कुछ संरचनाएं सभी …

Read More

अब आइये वनस्पति पर

वनस्पतियों की उर्जा संरचना में जीव जंतु की अपेक्षा पृथ्वी के सापेक्ष पॉजिटिव उर्जा का प्रतिशत अधिक होता है। इसलिए इनकी नेगेटिव धाराएं सीधे धरती में समां जाती है और …

Read More