सेक्स समास्याओं के लिए निम्नलिखित प्रश्नों की जानकारी देते हुए सम्पर्क करे

धर्मालय के प्रसार में सहयोग करें

सेक्स समस्याओं का देशी इलाज

  1. पेशाब की स्थिति बताये . अधिक होता है कम होता है सामान्य है .. पेशाब में किसी प्रकार जलन कष्ट या किसी प्रकार के दुर्गन्ध का एहसास होना और जो भी इसके बारे में बता सकते है ,
  2. पखाने की स्थिति – सामान्य रहना , कब्ज होना , ठीक प्रकार से खुलासा न होना। ऐसा महसूस होना की अभी पूरा मल नहीं निकला है , हाजत की इच्छा बनी रहना, मल में किसी भी प्रकार का दुर्गन्ध , मल की स्थिति कड़ी है, गाठदार है , गोल – गोल टुकड़े गिरते है
  3. पसीने की स्थिति , कम पसीना आता है , बिलकुल नहीं आता, बहत अधिक पसीना आता है , उसमें किसी प्रकार की दुर्गन्ध तो नहीं होती।
  4. शरीर में गर्मी की स्थिति , अत्यधिक गर्मी लगती है , सामान्य रहता है , किसी प्रकार का जलन , हाथ पैरों में ठन्डी – गर्मी की स्थिति और जो भी बता सके ..
  5. त्वचा में खुजली होना , सुखा रहना , फोड़े फुंसी की स्थिति , बाल की जड़ में खुजलाहट होना या उसका कड़ा होना , बाल झड़ना या सफ़ेद होना।
  6. . मानसिक स्थिति , मस्तिष्क में किसी प्रकार का कष्ट जैसे सर दर्द, सर चकराना , दुर्बला महसूस होना , यादास्त में किसी भी प्रकार की गडबडी
  7. . संगम के समय लिंग में पूरी तरह तनाव न होना या होना , वीर्यपात के समय जलन , वीर्य का पतला होना या बहुत गाढ़ा होना या कम निकलना ,,इन प्रश्नों पर खूब अच्छी तरह से विचार करके लिखे ; जो सामान्य है उसको उसी प्रकार ले , यह रोग सर्दी गर्मी के बढ़ने, पित्त के बढ़ने , शरीर में धातु की कमी होने और अनेक कारणों से होता है . यह किस कारन है यह इन बातों को जानने से समझा जा सकता है। इसी के आधार पर वनस्पति के भस्मों का मिश्रण और अर्क बनाया जाता है। भस्म चुकी बहुत कम होता है और आधे चावल की मात्रा में खाया जाता है , इसलिए इसे हम हल्दी में मिलाकर भेजते है इसकी खुराक रोग के अनुसार होता है और कभी कभी यह भी होता है की इस हल्दी एक 2-3 पैकेट होते है और अल्टरनेट डेट पर इसका प्रयोग किया जाता है और साथ में लगाने की दवा भी भेजते है .. ..

 

सम्पर्क करें – 8090147878

Email- [email protected]

 

धर्मालय के प्रसार में सहयोग करें

8 Comments on “सेक्स समास्याओं के लिए निम्नलिखित प्रश्नों की जानकारी देते हुए सम्पर्क करे”

  1. पेशाब में जलन ,कब्ज रहना ,पसीना बहुत होना ,फोड़े फुन्सिया होना व बाल जड़ना

          1. विचित्र बात है .अप लोग पहेलियाँ क्यों बुझाते हिन्? पूरा विवरण लिख्रें .यदि कोई पत्र व्यवहार हुआ है ,तो उसकी कोपी भेजें. यहाँ सक्रों पत्र आते हैं ,हम समुद्र नहीं उपछ सकते हैं .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *