बारह भाव में मंगल का फल, उपाय एवं टोटके

धर्मालय के प्रसार में सहयोग करें

तीसरा भाव

भाई बहन होंगे.दूसरों के लिए बहुत अच्छा और लाभदायक होगा , पर अपने लिए किस्मत शक्की होगी. मंगल नेक हो, तो शिव की तरह भोला भंडारी होगा, उसे अपनी शक्ति का ज्ञान न होगा, पर क्रोधित हुआ और किसी पर टूट पड़ा, तो उसकी खैर नहीं .वृहस्पति, चंद्रमा ,सूर्य किसी क्रम में 4,7,11 में हो, तो सुखी होगा. राहू भी अच्छा होगा.भाव 9 , में वृहस्पति हो, तो ससुराल से धन मिलेगा. शनि हो, तो स्वास्थय एवं मकान की दशा अच्छी होगी.

उम्र 90 साल तक होगी, यदि अन्य योग बाधित न करता हो , यह जातक जातिका मित्रों दोस्तों में प्रसिद्द और उसके नेता होते हैं. पर इनसे सभी सहमते हैं.

मंगल बद हो, तो चालबाज और धोखेबाज होता है. कभी अमीर, तो कभी कंगाल होगा. अययाश होगा . स्त्री जातिका एतबार के काबिल न होगी. दोस्तों, दायरे के लोगों को ठग सकती है.झगडा, फसाद, विश्वासघात स्त्री हो या पुरुष , उनकी फितरत होगी. पर उम्र 90 ही साल होगी , यदि दूसरे योग बाधित न कर रहे हों.

वृहस्पति 11 हो तो नाते, रिश्तों और परवार में मौतें होंगी चन्द्रमा, सूर्य, और वृहस्पति 4, 7, 11 , में हो, तो तो जान बूझ कर झमेले में पड़ेगा . दोस्तों के लिए मुसीबत में फंसेगा .

उपाय उपाय के वर्ग में देखे. हाथी दांत की ताबीज पहनें.

धर्मालय के प्रसार में सहयोग करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *