अमरबेल

धर्मालय के प्रसार में सहयोग करें

अमरबेल (Cuscuta Reflexa)

यह कई रोगों की दवा है. मासिक की अनियमितता (Period Problem),  मूत्र विकार (Urine Problem), लीवर के रोग (Liver Problem)का यह  आयुर्वेदिक रामबाण इलाज है.

यह वनस्पति सारे भारतवर्ष में पायी जाती है,पर इसके गुणों को लोग नहीं जानते। यह एक  दिव्य दवा है. आधुनिक युग के भी कई लाइलाज लोगों में इसका उपयोग हो सकता है।

रोग- मासिक की अनियमितता (Period Problem),  मूत्र विकार (Urine Problem), लीवर के रोग (Liver Problem), तिल्ली विकार (Spleen Problem), ज्वर (Fever), आँतों के विकार (Intestine Problem),  कुक्कुर खाँसी, रक्तविकार(Blood Problem),  पित्त विकार आदि।

दवा – इसको 20 ग्राम की मात्रा में कुचल कर 150 ग्राम पानी में 12 घंटे रखें, फिर मसलकर छानकर सुबह-शाम पीना चाहिए। रस की मात्रा 6 ग्राम है। शहद के साथ यह रक्त विकार को नष्ट करता  है।

तन्त्र में इसे काली की लता कहा गया है यानी रक्तबीज को दूर करने वाला। परिक्षण करने पर यह एड्स( Aids) में भी लाभदायक हो सकती है।

धर्मालय के प्रसार में सहयोग करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *