आप यहाँ हैं
धर्मालय > Uncategorized (Page 2)

महादुगाे की गोपनीय तंत्र साधना

स्थान--यह स्वाधिष्ठानचक्र की देवी हैं .यह चक्र कमर की हड्डी से कुछ ऊपर होता है .ध्यान देने पर अनुभूत होता है.इस चक्र की क्रियाशीलता में जो शक्ति काम करती है,उसे ही दुगाे जी कहा जाता है .यहाँ से सिन्दूरी रंग की उजाे तरंगों के रूप में निकलती है . कथा रहस्य

जीवनोपयोगी शाश्वत गुरू वचन

1--बहुत बड़ी मूखॆता है ,दिल का फैसला .भावुकता की देवी तारा है ,जिसका प्रवाह.काली के काम क्रोध से भी भयानक होता है .फैसला.हमेशा मस्तिष्क.यानी शिव पावॆती की सलाह पर लेना चाहिये . 2--जो मूखॆ अपनी प्रशंसा करनेवाले की बातों पर विश्वास करता है, वह बीच सड़क पर बबाॆद होता है . 3-- पति या पत्नी

भैरवीचक्र की साधनाओं का गोपनीय विग्यान 

समस्त तंत्रविद्या में इस मागे को श्रेष्ठ माना जाता है .इसे उध्वॆनाम्नाय कहा जाता है और मैनें कालान्तर में इनकी कई शाखाओं के गुरूओं से काफी संगती की उनसे सीखा भी ,पर उन्हे भी नहीं पता कि यह मागे श्रेष्ठ क्यों है ंयह पूछने पर वे शास्त्रीय श्लोक सुनाने लगे थे

भैरव दीक्छा एवं साधना 

य़ह दीक्छा एवं साधना विधि एक गुप्त भैरवी मागॆ की है . योग्यता ---साधक की उम्र 21 से 50 के मध्य होनी चाहिए. उसे स्वस्थ होना चाहिए . स्थान--- एकान्त कमरा या निजॆन या श्मसान सामग्री ---2100 भैरव मंत्रों से सिद्ध धतूरा, दालचीनी लौंग, कुमकुम, रोली, पंचरंगा से चित्रित यंत्र . भैरव के जिस

दाम्पत्य कलह :–कारण और निदान 

आजकल यह समस्या आम है .लड़ाई झगड़ा न भी हो रहा हो , तो भी पति पत्नी एक दूसरे की सूरत से बेजार शिकायतों का गुबार मन में दबाये घुटते रहते है .यहाँ हम सभी तरह के कारण और ऩिदान बता रहे हैं . 1--मानसिक लगाव न होना .भौतिक अपेक्छा और

सफेद बालों एवं गंजेपन का इलाज

बाल सफेद हों ,टूट रहें हों ,गंजापन आरहा हो, तो --- आम की गुठली के अन्दर की कोयल , + जामुन की गुठली की कोयल ,आँवला, शिकाकाई,भाँगरा ,वंशलोचन की वराबर मात्रा ले कर चूणॆ बना लें . इसे रख लें .इसे 20ग्राम की मात्रा में ,1/2ग्राम कली चूना ,1/2ग्राम न‌ौसादर के

‌नारी रोगो की चिकित्सा(शारीरिक)

नारी के शारीरिक रोगों की चमत्कारी आयुवेॆदिक और तांत्रिक चिकित्सा हमारे वेवसाइट के तंत्र चिकित्सा एवं चिकित्सा प्रभाग में विस्तृत रूप में उपलब्ध है. यहाँ हम कुछ ऐसे रोग निदान दे रहें हैं, जो आपके लिए समस्या बने हुए हैं,आप चिकित्सा करवा कर भी रोग मुक्त नहीं हो पा रहे

जटिल नारी समस्यायें और समाधान

भारतीय नारियों की सबसे ब़़ड़़ी समस्या यह है कि वह अपने शारीरिक - मानसिक कष्टों को किसी को बता नहीं पाती . कहीं लाज ,कहीं सामाजिक पारिवारिक मयाॆदा का सेन्टीमेन्ट , कहीं ़डर उन्हें मन ही मन घुटने पर विवश करता है . सच तो यह है कि प्रत्येक मामले में

भगवानों में श्रेष्ठ कौन है ?

आज कल कुछ लोग पूछने लगे हैं कि कौन  से भगवन श्रेष्ठ  हैं ? यह भ्रम  इसलिये उत्पन्न हुआ है कि हर सम्प्रदाय अपने अपने इष्ट को सर्व श्रेष्ठ बताते हैं .यदि कोई आप से पूछे कि आपका कौन  सा अंग श्रेष्ट है तो आप क्या जबाब देंगे ? एक

दैवी शक्तिओं और भाग्य के लिए पिरामिडों का प्रयोग

वास्तु के हिसाब से घर  का पूरा माप बना कर ,विभिन्न प्रकार के पिरामिडों के द्वारा भाग्य के ९० प्रतिशत दोषों को मिटाया जा सकता है . इसमें मकान मालिक की कुंडली की गणना भी आवश्यक है और यदि वास्तु के हिसाब से कोई स्थूल परिवर्तन आवश्यक है ,तो सरल

Top