आप यहाँ हैं
धर्मालय > तंत्र मन्त्र सिद्धि साधना

अंकोल के तेल के दिव्य प्रयोग

यदि कोई व्यक्ति मृतश्रय होकर निर्जीव सा लेटा हो, तो नाक जीभ पर इस तेल का एक-एक बूँद डालने पर वह तुरंत हरकत करेगा। जीवन हो, तो बच भी जाएगा। भूतो को बुलाना षट्कोण भैरवी चक्र के 6 कोणों पर अंकोल के तेल का कपास की बत्ती से जलाएं और सरसों

जादुई ईष्ट दर्शन

अंकोल , बंगाल में इसे आँकड़ा कहा जाता है। यह वहां बहुत होते हैं। इसके पके बीज और जड़ की अंतर छाल को सुखाकर चूर्ण करें। 5% काले धतूरे के बीजों का चूर्ण करें। इन सबको ढाई गुणा तिल के तेल में डालकर 108 दिन शीशे के बर्तन में रखकर

साँपों का फ़ौज बुलाना

ताजा मरे हुए नाग (काला या गेंहुअन) के मुँह में देशी कपास के बीज और सरसों भरकर एक महीने छोड़ दें। फिर इसे निकालकर सुखाकर बोयें। पकने पर कपास से बत्ती और सरसों से तेल बनाकर किसी बंद या खुले स्थान में रात में दीपक जलायें , तो 150 फीट

यक्षिणी साधना विस्तृत प्रयोग विधि

  यक्षिणी साधना विस्तृत प्रयोग विधि यहाँ अति गोपनीय यक्षिणी साधना का वर्णन विस्तार से किया जा रहा है । यक्षिणी के अनेक रूप होते हैं। हमने प्रयत्न किया है कि प्रत्येक रूप के लिए साधना का स्वरुप स्पष्ट रूप से वर्णित किया जा सके। ‘धर्मालय’ के सभी विवरण वैज्ञानिक रूप से

सन्यास और साधना का रहस्य

इस पर हम पहले भी बहुत कुछ कह आये हैं, धर्मालय पढ़िए , सन्यास लेने देने की चीज नहीं है। परिस्थितियों  से निराशा एवं जिन्दगी से उदासीनता का भाव सन्यास नहीं है। कोई घर छोड़ दें , तो उससे उसकी मानसिक दुनिया नष्ट नहीं होती, दुर्गा सप्तशती में इसकी कहानी

साधना का रहस्य

साधना का रहस्य (Secrets of Sadhana) आप लोगों का प्रश्न समझ में नहीं आता, धर्मालय के सिद्धि साधनाओं के क्षेत्र में प्रत्यक्ष होने से सम्बन्धित सभी वास्तविक वैज्ञानिक रहस्य बताये गये हैं. उस सूत्र के अनुरूप आप कोई काल्पनिक चित्र बनाकर अगर उसका ध्यान और उसके भाव के अनुरूप मंत्र जपेंगे,

तंत्र मन्त्र से काला जादू २ (प्रयोग)

काला जादू (Black Magic) के प्रयोग १ अनार की लकड़ी की समिधा में,चमेली के फूल में माध्यम को मिला कर हवन करने से वशीकरण होता है. २दूध,घी,शहद को बराबर मात्र में मिला कर,उसमें महुआ के फूल और  माध्यम मिला कर,आम की लकड़ी की समिधा में हवन करने से साध्य वशीकृत होता है. ३

तंत्र मन्त्र हवन से काला जादू

तंत्र मंत्र से काला जादू (Black Magic) विशेष निर्देश -किसी देवता की सिद्धि आवश्यक है. सिद्धि नहीं है, तो हवन की सख्या १०००० होती है. सिद्धि होने पर १०००. मानसिक एकाग्रता आवश्यक है. ध्यान में इष्ट देवता को हवनकुंड से प्रगट हो कर भाव के अनुसार वांछित काम  करते हुए अनुभूत किया

लालच के मारों को सिद्धियाँ प्राप्त नहीं होतीं

सिद्धि साधना पाने की योग्यता जब हम कोई भी काम करते हैं, तो उसमें कोई न कोई कामना होती है. पर काम के समय हमें काम पर घ्यान देना होता है, न कि कामना पर. यदि हम अपनी कामना की लालच में ही डूबे रहे, तो उस काम में ध्यान नहीं

घी कैसे पचायें ?

मुसीबत यह है कि लोग छोटी छोटी सामान्य बातें  को भी पूछने लगते हैं कि  इसकी विधि क्या है .तेल या घी दाल दाल कर मालिश करके सम्बंधित अंगों में अन्दर तक अब्जोर्ब करने की प्रक्रिया को पचाना कहते हैं और घर घर में माताएं बहनें इसे जानती हैं . इसी

Top