आप यहाँ हैं
धर्मालय > ज्योतिष विद्या

अशुभ केतु के उपचार एवं टोटके

प्रथम भाव – काला और सफ़ेद दुरंगा कुत्ता पालें। या ऐसे कुत्ते की देखभाल करें। गली के आखिरी मकान में न रहे। चंद्रमा के निर्दिष्ट उपचार करें। लाल रंग का रुमाल/कपड़ा जेब में रखें। द्वितीय भाव – सदाचार का निरंतर पालन करें। नौ वर्ष से कम आयु की कन्याओं की सेवा

अशुभ राहु के उपचार एवं टोटके

प्रथम भाव – गेंहु, गुड़ और कांसा मंदिर में दान दें । चाँदी का चौकोर टुकड़ा गर्दन में बांधे। उसकी मोटाई सब जगह एक जैसी होनी चाहिए। दूध से स्नान करें। द्वितीय भाव – जेब में चाँदी की छोटी-छोटी गोलियां रखें। ललाट पर हल्दी या केसर का तिलक लगायें। सोने के

अशुभ शनि के उपचार एवं टोटके

प्रथम भाव – बंदरों की सेवा करें। चीनी मिला दूध बड़ कि जड़ों में डालें, उससे गीली मिट्टी से तिलक करें। झूठ न बोलें। दूसरों की वस्तुओं पर बुरी दृष्टि न डालें। द्वितीय भाव – ललाट पर दूध या दही का तिलक लगायें। सलेटी रंग की भैंस पालें। साप को दूध

अशुभ शुक्र के उपचार एवं टोटके

प्रथम भाव – अपने भोजन में से कुछ भाग गाय, कुत्ते या पक्षियों को दें। सास- ससुर से शुद्ध चाँदी ग्रहण करें । गौ मूत्र पीयें। जौ और सरसों दान में दें । पत्नी के सिर में सोना पहनायें। भगवान पर विश्वास रखें। द्वितीय भाव – चौपाये जानवर का व्यापार करें

अशुभ बृहस्पति (गुरु) के उपचार एवं टोटके

अशुभ बृहस्पति (गुरु) के उपचार एवं  टोटके प्रथम भाव -  1.  पितृ ऋण के लिए निर्दिष्ट उपचार । किसी से दान या मदद(Help) स्वीकार न करें। अपने ही आप पर भरोसा रखें। द्वितीय भाव-  1. घर के सामने सड़क(Road) के गड्ढे भरना। केसर और हल्दी का तिलक लगाना। तृतीय भाव- 1. दुर्गा पूजा

बुध के अशुभ होने के उपचार एवम टोटके

बुध(Mercury) के अशुभ होने के उपचार एवम टोटके प्रथम भाव -  1. मांसाहारी न बनें। अंडे(Egg) भी न खाए। मछली(Fish) न पकडें। द्वितीय भाव – 1. फिटकरी से दांत साफ़ करें। तोता(Parrot) , भेड़-बकरी न पालें। दूध(Milk) और चावल मन्दिर में चढायें। तृतीय भाव – 1. दुर्गा पूजा करें, कन्याओं का आशीर्वाद प्राप्त

मंगल के अशुभ होने के उपचार एवं टोटके

मंगल के अशुभ होने के उपचार एवं टोटके प्रथम भाव – 1. किसी से कोई वस्तु मूल्य चुकाए बिना या दान में ग्रहण न करें । झूठ कभी न बोलें। 3.हाथ दांत की बनी हुई वस्तुएं जातक के लिए हानिकारक है। द्वितीय भाव – 1. लाल रंग का रुमाल अपने पास रखें। घर

चन्द्रमा के अशुभ होने के उपचार एवं टोटके

प्रथम भाव – (1) जब बच्चों सहित कोई नदी पार करें तो बहते पानी में ताम्बे का सिक्का(Coin) डालें। (2) माँ का आशीर्वाद प्राप्त करें । उसके दिए हुए चावल(Rice) और चाँदी(Silver) अपने पास रखें। (3) पलंग के पायों में ताम्बे(Copper) की मेख लगायें। (4) आयु के चौबीसवें वर्ष नौकरानी या गाय रखें। (5)

शरीर के लक्षण से अशुभ ग्रहों की पहचान

शरीर के लक्षण से अशुभ ग्रहों की पहचान(Identification of ominous planets by the body's symptoms) सूर्य(Sun) – शरीर(Body) के अंग अकड़ जाए , हिलने-डुलने में कठिनाई हो, हर समय मुंह(Mouth) में थूक आता रहे, घर में लाल गाय या भूरी भैंस हो तो वह खो जाए। ऐसा हो तो सूर्य अशुभ

सूर्य के अशुभ होने के उपचार एवं टोटके

सूर्य के अशुभ होने के उपचार एवं टोटके प्रथम प्रभाव: - (1) सदाचारी बनें। (2) घर के अंतिम सिरे पर बायीं औ अधेरा कमरा बनवाएं। द्वितीय भाव :-  (1) पैतृक घर में एक हैण्ड पंप लगायें। (2) मुफ्त में किसी से कुछ मत लें। चावल ,चाँदी , दूध(Rice, silver, milk) आदि चन्द्रमा से सम्बन्धित

Top