आप यहाँ हैं
धर्मालय > किया-कराया; जादू-टोना; काला-जादू (Page 2)

पुतली तंत्र (क्रमांक २) श्वांसों का विज्ञान – शरीर के मर्म स्थान

पुतली तंत्र में दूसरा महत्वपूर्ण स्थान श्वांसों की गति का है. यहाँ यह जानना समीचीन होगा कि ये जानकारियां सभी मार्ग और विधि में आवश्यक होतीं हैं, जब हम अभिचार कर्म करते हैं. श्वांसों की वाम एवं दक्षिण गति हमारी दो नासिकाएँ हैं. हम दोनों से श्वांस लेते रहते हैं, मगर हमें

पुतली-तंत्र (क्रमांक १) सम्पूर्ण अभिचार रहस्य और विधि (विष एवं अमृत स्थान)

किसी व्यक्ति के शरीर की डमी पुतली बना कर, उसकी प्राण प्रतिष्ठा करके अभिचार की सभी षट्कर्म करने की क्रिया को भारतीय तंत्र में पुतली तंत्र कहा जाता है, पर यही विद्द्या कुछ परिवर्तनों के साथ अफ्रीका में "वुडू" के नाम से जानी जाती है. यह बेहद रहस्यमय और जटिल

पुनर्जन्म, आत्मा, जीवात्मा एवं प्रेतात्मा का सनातन रहस्य

इन विषयों पर हम पहले भी प्रकाश डाल चुके है. पर लगता है किसी विषय को जानने समझने के लिए लोग पूरी वेबसाइट पर उस विषय का अध्ययन नहीं करते. स्मरण रखें यह आध्यात्म है इसे टुकड़ों में नहीं समझा जा सकता. यह एक ही विज्ञान है, जो बरगद के

काला जादू का रहस्य (आधुनिक एवं प्राचीन विज्ञान विश्लेषण)

हम पहले बता आये हैं कि  यह रसायन विज्ञान है. यह स्पष्ट कर देता है कि इसका विज्ञान क्या है. यह दूसरी बात है कि यह आधुनिक विज्ञान से बहुत आगे और दूसरे तरह का रसायन शास्त्र है. इसके नुस्खों का ज्ञान आधुनिक युग के advance अपराधियों को नहीं है,

कालाजादू – प्रयोग

वैधानिक - ऐसे प्रयोगों के कुछ कॉड छिपा लिए गए हैं ,जो खतरनाक हैं और जिनसे अपराधी फ़ायदा उठा सकते हैं. आजकल इसी को तंत्र विद्द्या कहा जाता है, इसीलिए तंत्र को भयानक और अजीबोगरीब विद्द्या समझा जाता है. जो दो चार प्रयोग जान लेते हैं, वे चमत्कार दिखा कर

मूँग बहाने से धन मिलता है ?

पता नहीं आपने यह कहाँ से सुना. मूँग बहाने का अथॆ बुध बहाना होता है. बुध बहाने से धन मिलता है, यह पहली बार सुना है. बुध खराब है, तो कुछ ज्योतिषी यह उपाय बताते हैं, मगर यह भी हानिकारक है. हम कई बार बता चुके हैं कि उपाय कारण

भूत -प्रेत प्रकोप से सुरक्षा. क्या भूत होते हैं ?

भूत -प्रेत प्रकोप की घटनायें सारे विश्व में घटती हैं .बहुत बडे पैमाने पर घटतीं हैं . विज्ञान की एक ही रट है यह अनभूतियों का भ्रम है? जबकि वे जानते हैं कि अनुभूतियों की सत्यता का कोई मानक अब तक निधाॆरित नहींं हैं. इसे जानकारियों के आधार पर सत्य या

गुप्त चमत्कारिक ताबीज, बाजू में बाँधने का बंद, गले की बद्धियाँ, गुटका, बीज, बाधा निवारक त्रिशूल आदि (स्वयं बनाये या हमसे मंगवाए)

रक्षा ताबीज श्री चक्र या भैरवी चक्र एक पतले कागज़ पर मदार की कलम या होल्डर या मोटी पेसिंलनुमा आम की लकड़ी की कलम से बनाये।  स्याही लाल रंग में केसर मिलाकर बनाये।  इस पर फिटकरी और सुहागे का चूर्ण छिड़के और कपड़े के ताबीज में बंद करके काले धतूरे ,

अपने बच्चों को नजर या अला-बला से बचाएं

फिटकरी, मदार के एक फूल को लाल या पीले रंग के कपड़े में ताबीज बनाकर उसे 108 दुर्गा मंत्र ‘ दुं दुर्गाय नमः’ से सिद्ध करके बांध दें या गले या कमर में पहना दें। उसपर नजर या बुरी हवाओं का असर नहीं होगा।ईग्निशिया बीज (जहरीला पपीता नामक वनस्पति। यह

मानसिक रोग और उसके कारण (किया-कराया सहित)

कारण और निदान यह रोग किसी प्रकार का शॉक लगने से , विषैले वायु या शक्ति के प्रवेश से ,  किसी दुष्ट द्वारा किसी जादू-टोने वाले शक्तिकृत विष के एक – दो बूँद दे देने से, किसी कारण से शरीर की स्वाभाविक आंतरिक विद्युत् प्रवाह के डिस्टर्ब होने से होता है। यह

Top