आप यहाँ हैं
धर्मालय > तंत्र मन्त्र सिद्धि साधना > सिद्धि की प्रक्रिया और होने वाले व्यय को समझ कर संपर्क करें

सिद्धि की प्रक्रिया और होने वाले व्यय को समझ कर संपर्क करें

हम भारी परेशानी में पड़ गए हैं. हमने गलती की कि सिद्धि साधनाओं के गुप्त तकनिकी जानकारियों का प्रसारण किया. हमारा उद्देश्य यह था कि जो साधक इसमे लगे हैं, वे इसके उन तकनीकी क्रियाओं को समझ सकें जिन्हें कोई गुरु नहीं बताते, क्योंकि इसके विज्ञान की जानकारी सबको नहीं होती. मगर एकाएक मुफ्त में अमृत पीनेवालों की भीर उमड़ पारी है. आश्चर्य यह है की इन्हें सिद्धि सरलता से प्राप्त हो जाने वाला बाबा जी का बेल लगता है. ऐसे आर्डर देते हैं जैसे मेरा कम उनको सिद्धि दिलाना है और मैं उनका वेतन भोगी हूँ.

सिद्धि की प्रक्रिया यह होती है. पहले यह तो समझ लें की इस रस्ते पर चलने की मानसिक ताकत है भी या नहीं?

  1. शरीर शुद्धि , सात दिन
  2. भूतशुद्धि तिन दिन
  3. स्थान और आसन सुद्धि एक दिन
  4. अभिसेक तिन दिन
  5. गुरुपूजा एक दिन पूजा एक दिन
  6. आवाहन क्रिया ३० दिन
  7. इसके बाद जप. इसमे समय साधक के मानसिक परिश्रम और लगन पर निर्भर करता है.

सामान्य साधनाओं में भी शास्त्रीय निर्देश २५००० से ५०००० जप का है. महाकाली आदि की साधनों में यह ३००००० है और यह प्राचीन निर्देश है. आज वह वातावरण नहीं है . इसके बाद जप का दसवां भाग हवानका. धर्मालय की साईट पर और भी बहुत सी जानकारियां हैं उन्हें पढ़ें.  

उस पर अ आ इ ई तक सिखाना परता है. हमारे समय की कीमत है. मैं इस प्रकार का कोई धर्मार्थ कार्यक्रम नहीं चलता.

4 thoughts on “सिद्धि की प्रक्रिया और होने वाले व्यय को समझ कर संपर्क करें

  1. प्रणाम गुरुजी,
    सिद्धी के बारे में अधिक जानकारी के शत शत प्रणाम।
    इसे कैसे करना है, जैसे शरीर शुद्धि में क्या आता है।
    क्योंकि, जैसे आपने ऊपर बताया। आज इसे सीखने के लिए बहोत क़ीमत चुकानी पड़ती हैं, जो हमारे परंपरा में अजीब लगता है।
    सास्टांग दंडवत.

      1. कौन सी परम्परा ? यहाँ सभी परम्परा के परछे गुरुओं के प्रमाणि गुप्त दीक्षा नियम हैं . गुरु को गुरु दक्षिणा में आधी संपत्ति और सर तक अर्पण करने के निर्देश सभी अम्प्रदाय में है . मुफ्त में गुरु को मुर्ख बना कर कहह झटक लेने की बूढी इस युग की दें है ,किसी परम्परा की नहीं .

      2. राम राम जी मे सिद्धी करना चाहता हू कृपया
        मेरा मार्गदर्शन करे

        Leave a Reply

        Top