साधना का रहस्य – मन्त्र साधना कैसे करें, सिद्धि प्राप्ति के क्या नियम हैं?

धर्मालय के प्रसार में सहयोग करें

साधना का रहस्य (Secrets of sadhana)

सिद्धि कैसे प्राप्त की जाए? आत्म सिद्धि मन्त्र क्या है? तांत्रिक मन्त्र साधना क्या है? मन्त्रों को सिद्ध करने के लिए कौन सी विधि का प्रयोग करना चाहिए?

आप लोगों का प्रश्न समझ में नहीं आता, धर्मालय के सिद्धि साधनाओं के क्षेत्र में प्रत्यक्ष होने से सम्बन्धित सभी वास्तविक वैज्ञानिक रहस्य बताये गये हैं। उस सूत्र के अनुरूप आप कोई काल्पनिक चित्र बनाकर अगर उसका ध्यान और उसके भाव के अनुरूप मंत्र जपेंगे , तो वह प्रकट हो जायेगा , प्रत्यक्षीकरण का सिद्धांत हर देवता का अलग अलग नहीं होता  , भाव और मन्त्र समीकरण बदल जाते हैं। समय, काल, विधि, प्रकिया आदि भाव के अनुरूप तय किये जाते हैं।

धर्मालय अंधीआस्थाओं का आश्रम नहीं है , यहाँ जो वास्तविक सत्य है उसेक अनुरूप सारी बातें बताई जाती हैं।जब जान ही नहीं रहे कि हम करने क्या जा रहे है और किस प्रकार यह सब फलित होता है , तो साधना की बात करना समय नष्ट करना है। गुरु का गोपनीय ज्ञान यही, जो दीक्षा के बाद दिया जाता है।

विधि प्रक्रियाएं तो अनेक प्रकार की होती हैं।साधनाएं उनपर निर्भर नहीं करती हैं। यह सारा रहस्य धर्मालय पर बताया गया है पर कोई भी उसे पढने का कष्ट नहीं उठाता है। उसे पता होता है कि किसी लोक में देवता हैं वहां से नंगे पाँव दौड़े चले आते है। जैसे परमात्मा ने सारा विज्ञान केवल हिन्दू देवी-देवताओं के लिए ही बना रखा है। यह एक तकनीकी है , जिसमें शारीरिक ऊर्जा के समीकरण को केन्द्रियाभूत किया जाता है।

साधना और सिद्धि के क्षेत्र में ; जो इसे नहीं जानता वह अपना समय नष्ट करता है और हमारे पास इतना समय नहीं होता कि हर देवी -देवता के सम्बन्ध में एक ही बात को बार बार दोहराऊ।

धर्मालय के प्रसार में सहयोग करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *