आप यहाँ हैं
धर्मालय > आपके प्रश्न और हमारे उत्तर > समस्याएं ऐसे दूर नहीं होते

समस्याएं ऐसे दूर नहीं होते

समस्याएं ऐसे दूर नहीं होते (Problems are not so distant)

प्रश्न – मेरी समस्या धन(Money Problem) की हैं । मैंने धनदा का मंत्र जपा, ज्योतिषी(Astrology) का बताया रत्न पहना, दो घंटे प्रतिदिन लक्ष्मी का जप और रात में दो घंटे धनदा का मंत्र जपता हूँ। मेरी समस्या कैसे दूर होगी?

उत्तर – कोई भी समस्या ऐसे दूर  नहीं होती। चार घंटे का मन्त्र जप यानी मुंह मंत्र जप रहा है। सुबह से शाम तक आप निरर्थक अपना समय नष्ट कर रहे है। रत्न पहनने, मनी प्लांट लगाने , घर में चमत्कारिक(Miracle) वस्तुएं रखने से धन की प्राप्ति नहीं होती।

धन के लिए दो बातें जरूरी होती हैं। धन प्राप्त करने की प्रबल व्याकुलता और उसके लिए रास्ता सोचना , फिर उस रास्ते पर परिश्रम करना। मन्त्र-यंत्र-तन्त्र उस रास्ते को बतने , उस पर दौड़ने और विघ्न बाधा दूर करने के लिए शक्ति देने वाले होते है। छत से सोना नहीं बरसता, न ही बिना कुछ किये धन आ जाता है।

धर्मालय बार-बार बाजार में फैले पाखंड(Fraud, Fake) से बचने की चेतावनी दे रहा है, मगर आप जैसे लोग हवाई चमत्कार की आशा में समय और धन दोनो बर्बाद करते है ।

आपके लिए उचित है कि अपनी कुंडली का अच्छा अध्ययन करवाइए और देखिये कि धन प्राप्ति के लिए कौन सा काम करना चाहिए और उसकी राह की बाधाओं को दूर करने के लिए कौन सा टोटका , मन्त्र या उपाय करना चाहिए और कैसे? मन्त्र जपना एक भारी तकनिकी मकरजाल से भरा  काम है। समय , वस्त्र, आसन , दिशा, दीप , यंत्र, ध्वनि , उच्चारण और सबसे महत्त्वपूर्ण मानसिक रूप से मन्त्र में डूबकर स्वयं की सुधि बिसरा देना होता है। पर यहाँ भी चमत्कार माध्यम पकड कर आता है। यक्षिणी आनकर नोटों के बण्डल और सोने के गहने नहीं थमाती ।

क्या सोच है यार ?… नौकरी की छोड़कर आसपास सम्भावनाएं तलाश करें; कुंडली के ग्रहयोग के अनुसार कम करें, तो घास और कबाड़ भी बेच कर न जाने कितने करोडपति बना जाते है। एक सिक्ख दरभंगा के मिर्जापुर चौक पर पकौड़े बेचता था । जगह भी नहीं थी और दो मकान बना लिया , बेटे-बेटी को कहाँ से  कहाँ पंहुचा दिया।

 

प्रश्न – मेरी शादी के 6 महीने हुए है । शादी के बाद पता चला कि उनका किसी से चक्कर चल रहा है। बहुत टोना-टोटका , तन्त्र-मन्त्र करवाया, मगर वह स्त्री इनका पीछा नहीं छोड़ रही , न ही ये उससे मिलना छोड़ रहे है।

उत्तर – आपने यह नहीं लिखा कि आपके प्रति पति का व्यवहार क्या है? यदि वहां कलह है, तो आप दोनों के ग्रहों टकरा रहे है। कौन से ग्रह टकरा रहा है, यह जानकर ही निदान होगा ।

आप वशीकरण – उच्चाटन करवाना चाहती है, पर इसके लिए भी पहले ग्रह-नक्षत्र आदि की गणना की जाती है। हमारे यहाँ हवा हवाई काम नहीं होता ।

पुरुष स्वभाव से ही बहुगामी होता है । शायद ही कोई हो, जिसका मन बहकता न हो । अपनी मर्यादा, संस्कार , पत्नी की नाराजगी , लोकनिंदा और जिस पर मन है, उसका पाना असम्भव होने के कारण ही वह शरीफ बना रहता है। शादीशुदा पुरुष से सम्बन्ध बनाये रखने वाली स्त्री चरित्र हीन होती है। वह धन के लिए याह सब कर रही है। ऐसी स्त्रियाँ जादू-टोना , टोन-टोटके से लेकर ब्लैकमेल तक करती है। इसका जो भी डिटेल मालूम हो बताना होगा ।

प्रश्न – मेरी शादी के तीन साल हो गये हैं। शादी होते ही मेरे पेट में कुछ आ गया। कोई बुरी शक्ति । नाभि के नीचे हलचल होती है। आधी रत को निश्चित समय पर वह ऊपर आकर मुझे कब्जे में कर लेता है । मुझे अपना होश नहीं रहता। एक भयानक काली छाया होती है। वह बहुत  गंदा है। मैं सुबह उठने के लायक नहीं रहती। उसके आने से पहले मुझे मालूम हो जाता है। धड़कन , ब्लड प्रेशर , भय, घबराहट इतनी होती है कि लगता है हार्ट फेल हो जायेगा। मेडिकल रिपोर्ट में सब ठीक है। एक तांत्रिक ने कहा कि जिन्न है ।

उत्तर – जिन्न अरेबियन नाईट के एक करैक्टर है। मुस्लिम तांत्रिक इसके नाम पर लोगों को भयभीत करते है। वह कोई बुरी शै है , पर ‘आत्मा’ जैसी कोई चीज हो सकती है । आपको और डिटेल बताना होगा; मिलना भी पड़ सकता है।

अभी तत्काल राहत के लिए अप कमर में ताज़ी अपामार्ग की जड़ को हिंग के साथ खुरचकर पीसे और अगल बगल जो भी भैरव जी का मन्दिर हो; वहां सरसों तेल का दीपक जला कर कुछ तेल घर लाये। उसे उस मिश्रण में मिलाकर सर से पांव तक मालिश करें। कोई भी जगह न छोड़े ।

यह लगातार हर रात करते रहे और ‘ॐ भैरवाय नमः’ मन्त्र के साथ जप करें। सुबह नहा धो लें ।वह नहीं आएगा , पर परमानेंट इलाज नहीं है। जब छोड़ेंगे, तब आ जाएगा।

प्रश्न – मेरा सब काम खराब हो जाता है। जो करता हूँ , असफलता हाथ लगती है। लगता है किसी ने कुछ कर दिया है ।

उत्तर – आप भ्रम में है। यह जादू टोना का विषय नहीं है। ग्रह योग सपोर्ट नहीं कर रहे है। कुंडली दिखानी होगी .

प्रश्न – मुझ पर कोई शक्ति आ जाती है। रात में वह मुझे कब्जे में ले लेती है। तब मैं लोगों को उसकी समस्याओं का निदान बताता हूँ ।

उत्तर – आपकी आँखें बता रही है कि आप भाँग , गाँजा , अफीम , चरस जैसी किसी चीज का इस्तेमाल करते है। नशा छोड़ो और अमरुद के पत्तों का शरबत दिन रात चार बार पीयों।

प्रश्न – मैं जिससे प्रेम करती हूँ ; वह मुझे कैसे मिलेगा ?

उत्तर – क्या वह भी आपसे प्रेम करता है? क्या वह आपको जानता है? जानता है , तो किस रूप में? अपरचित होगा, तो परिचय कीजिये। आजकल शायद ही कोई हो , जो लड़की का परिचय ठुकरा दें। यदि वह दूसरे से प्रेम करता है  और वह लड़की भी उसे चाहती है; तो आप अलग हट जाईये। वशीकरण – उच्चाटन विद्वेषण आदि में समय नष्ट न करें। ये कठिन क्रियाएं है; इसमें बहुत धन परिश्रम लगता है और यह कभी स्थाई नहीं होता।

कुंडली की सेवा के लिए यहाँ क्लिक करें.

2 thoughts on “समस्याएं ऐसे दूर नहीं होते

  1. Namhskar ji main rambha apsara sadhna Karna chahta hu,iskeliye kya guru diksha Lena jaruri hai kirpaya bataye.

Leave a Reply

Top