आप यहाँ हैं
धर्मालय > दिव्य तांत्रिक चिकित्सा > भाग्य दोष और आधि दैविक दोष

भाग्य दोष और आधि दैविक दोष

बिहन, बाधा, प्रगति बाधित , ग्रह –दोष , किये –कराए का दोष , दाम्पत्य विवाद , दाम्पत्य कलह, प्रेम में असफलता, वशीकरण आदि अभिचार कर्म से मुक्ति के लिए पत्र – व्यवहार करें; क्योंकि यह समस्या सबकी अलग-अलग प्रकृति की होती है।

सिद्ध यंत्र, सिद्ध माला, सिद्ध गुटिका, चमत्कारिक ताबीज

A. वशीकरण हेतु सिद्ध यंत्र – इसे स्त्री बायीं बाँह में, पुरुष दायीं बाँह में बाँधकर जिस किसी को वशीकृत करने के लिए जिस किसी के नाम पर कृत्यामंत्र से हवन करें; वह सात दिन में वशीकृत होकर पास आता है।

(इसमें और 19 प्रकार के भिन्न-भिन्न सिद्ध यंत्र है, जो परिस्थितियों के अनुसार चयन किये जाते हैं। पूरी विधि साथ बताई जाती है )

B. धन-सौभाग्य –संपत्ति –यश वर्द्धक श्री यन्त्र, लक्ष्मी यन्त्र , भैरवी यन्त्र, विष्णु यंत्र, गणेश यंत्र (सभी सिद्ध )
प्रयोग विधि साथ दिया जाता है।

C. षट्कर्म अभिचार हेतु कोई भी यन्त्र (काली,कृत्या, नित्या, महाकाल,रूद्र, मोहिनी,यक्षिणी, अप्सरा, योगिनी आदि )
इन यंत्रो पर कोई भी अभिचार कर्म बताई गयी विधि से करने पर चमत्कारिक प्रभाव उत्पन्न होता है।

D. किसी भी देवी –देवता का कोई भी यंत्र (सिद्ध )

E. पूजा –आसन यन्त्र – इसे पूजा स्थान पर आसन के निचे स्थापित करके बताई गयी विधि से पूजा करने पर चमत्कारिक रूप से मनोकामना की पूर्ति होती है।

.F. चमत्कारिक गुटिकाएं – सम्मोहन, वशीकरण,मनोकामना पूर्ति,नजरो से वशीकरण, रतिकाल में वीर्य स्तम्भन, कामोत्तेजक प्रभाव, वांछित स्त्री-पुरुष को वश में करने वाले , विवाद में विजय हेतु बनाई गयी तंत्र सिद्ध गुटीकाएं। इन्हें घिसकर बताई गयी विधि से तिलक में, पेय में पिलाने-पिने, कमर में बाँधने आदि के द्वारा वांछित इच्छओं की पूर्ति होती है।

ये अलग-अलग होते है। अपनी बात पत्र द्वारा कहें और उपर्युक्त गुटिका प्राप्त करें।

G. यदि आपको कोई भी किसी वस्तु की सिद्ध माला चाहिए हमसे संपर्क करें। आप अपनी माला भी सिद्ध करवा सकते हैं।
माला 27, 50, 54 एवं 108 दानों की होती है। इनका प्रयोग क्रमशः अभिचार, देवी सिद्धि एवं देवता सिद्धि और हवन के लिए या जप के लिए किया जाता है।

मालाओं की सूची अलग दी गयी है ।

6 thoughts on “भाग्य दोष और आधि दैविक दोष

  1. हमसे संपर्क करने के लिए धन्यवाद विमल जी !! आपकी समस्या का सामाधान जल्द ही किया जाएगा .. आप अपना मेल चेक करते रहे

    • प्रनाम गुरु जी
      मैं काफी समय से आप की साइट पर दिये गए परयोग ओर साधनाए पड़ता रहा हु । इस के साथ साथ मैं आप के द्वारा लिखी कुछ पुस्तके भी पड़ चुका हु ।आप के मार्गदर्शन की कामना है ।

      • Guru ji pranaam….नजरो से वशीकरण ki vidhi aur gutika ke bare mein bata dijiye aur kitne ki hai….aur kaise prapt hogi……..

        Leave a Reply

        Top