आप यहाँ हैं
धर्मालय > ज्योतिष विद्या > बुध के अशुभ होने के उपचार एवम टोटके

बुध के अशुभ होने के उपचार एवम टोटके

बुध(Mercury) के अशुभ होने के उपचार एवम टोटके

प्रथम भाव –  1. मांसाहारी न बनें। अंडे(Egg) भी न खाए।

  1. मछली(Fish) न पकडें।

द्वितीय भाव – 1. फिटकरी से दांत साफ़ करें।

  1. तोता(Parrot) , भेड़-बकरी न पालें।
  2. दूध(Milk) और चावल मन्दिर में चढायें।

तृतीय भाव – 1. दुर्गा पूजा करें, कन्याओं का आशीर्वाद प्राप्त करें।

  1. रात को पानी में मूंग भिगोयें। सुबह भीगे हुए मूंग कबूतरों को खिला दें।
  2. दमे की दवाईयां(Medicine) सेंत में बांटे।

चतुर्थ भाव – तोता भेड़-बकरी न पालें।

  1. सूर्य के लिए बताये गये उपचार करें।
  2. गुरु के लिए निर्दिष्ट उपचार करें।
  3. घर में हरा रंग न रखें। पेड़-पौधे तक भी न रखें।

पंचम भाग – 1. कमर में बेल्ट बांधें।

  1. बाएँ हाथ में चाँदी का चालला पहनें।

षष्ठ भाव – अपने घर से उत्तर दिशा में बहन – बेटी का विवाह न करें।

  1. दूध से भरा हुआ मिट्टी का बर्तन निर्जन स्थान पर जमीन के नीचे दबा दें।
  2. शीशे की बोतल में गंगा – जल भर कर शीशे के गिलास से ही ढकें और खेत में जमीन के नीचे दबा दें।

सप्तम भाव – बेटी के साथ माँ जैसा बर्ताव करें।

  1. हीरे या पन्ने की अंगूठी पहनें।

अष्टम भाव – 1. बेटी को चाँदी की नाथ पहनाएं।

  1. काली निकर पहनें।
  2. घर की छत पर वर्षा का जल रखें।
  3. घर में पूजा का स्थान न बदलें।

नवम भाव – चाँदी पहनें।

  1. नयें कपड़ों को नदी जल में धोने के बाद पहनें।
  2. घर में या अपने लिए हरे रंग का प्रयोग बिल्कुल न करें।

दशम भाव – 1. घर में तुलसी और मनी प्लांट न लगायें।

2.मदिरा, मांस, मछली, अंडा आदि का सेवन न करें।

  1. शनि के लिए निर्दिष्ट उपचार करें।

एकादश भाव – खाली बर्तनों को ढकें नहीं।

  1. चौड़े पत्तों वालें पेड़ घर में न लगायें।

द्वादश भाव – मिट्टी का कोरा घड़ा ढक्कन सहित बहते पानी में डाल दें।

  1. घर में कुत्ता पालें, किन्तु भूरे रंग का न हो।
  2. दुर्गा पूजा करें। कन्याओं का आशीर्वाद लें।
  3. अपने वचन का सदा पालन करें।

 

 

सामान्य उपचार , सब भावों के लिए

  1. बुधवार का उपवास रखें।
  2. हरी वस्तुएं , दान में दें या बहते पानी में डाल दें।
  3. छेद वाला तांबे का सिक्का बहते पानी में डालें।
  4. बकरी या तोता पालें। उनकी सेवा करें।
  5. कमर में बेल्ट बाधें।
  6. हरे रंग के कपडें और चूड़ियाँ हिजड़ों को दें।
  7. बुध नीच राशिगत हो तो बुध की वस्तुएं दान में दें। बुध उच्च का हो तो न दें।
  8. बहन , बेटी, बुआ , मौसी , साली का आशीर्वाद प्राप्त करें।

कुंडली की सेवा के लिए यहाँ क्लिक करें.

Leave a Reply

Top