आप यहाँ हैं
धर्मालय > डिस्कवरी ऑफ़ भैरवी चक्र > प्रेम समस्या

प्रेम समस्या

प्रेम समस्या  (Love Problem)

आज के आधुनिक युग में ‘प्रेम’ , विशेषकर युवक – युवतियों का प्रेम एक समस्या है। भारतीय समाज इसे स्वीकार नहीं कर रहा है और आधुनिक विचारधारा इसको प्रोत्साहित कर रही है। इससे प्रेमी – जोड़ो को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

दूसरी समस्या प्रेम में तकरार और वियोग की है। प्रतिदिन मेरे पास दो-चार युवक – युवतियों के रिक्वेस्ट आते है कि मेरा प्रेमी  या प्रेमिका रूठ गयी है , उसे दुसरे ने बहका दिया है या माता –पिता ने उस पर कुछ किया- कराया कर दिया है या मैं बहुत प्रेम करती हूँ , पर आजकल वह उपेक्षित व्यवहार करता है । बहुतों का दूसरा पक्ष अनजान होता है , पर एक पक्ष चाहता है कि वह उसकी हो जाए।

तीसरी समस्या शादीशुदा जोड़ो की है । विवाह हुआ। सब ठीक था , पर तीन वर्ष में ही उपेक्षा और तकरार शुरू हो गयी। कहीं मामला तलाक तक, तो कहीं देवदास या मीरा बनने तक पहुच गयी।

प्रेम में ये समस्याएं क्यों आई? आयीं , तो दूर होगी या नहीं? दूर होगी, तो कैसे? इन्ही अनेक प्रश्नों के उत्तर के लिए यह वेबसाइट स्थापित की गयी है।

 

‘प्रेम’ का दायरा व्यापक होता है। इनकी समस्याएं भी असीम होती है। हम उन मुख्य समस्याओं के कारण और निदान को बतायेंगे , जो बहुतायत में पाई जाती है। इनसे अतिरिक्त कोई समस्या हो, तो आप उसका निदान हमसे पूछ सकते है।

‘प्रेम मार्ग’  एक आध्यात्मिक और तांत्रिक मार्ग है। यह आपको जीवन की हर भौतिक और अलौकिक शक्तियों की प्राप्ति की सरल विधि बताता है। जो आपके जीवन को खुशियों से भर सकता है। हर मनुष्य किसी न किसी से ‘प्रेम’ करता है। वह चाहे कोई रिश्ता हो, दोस्त हो या अपरिचित चाहे कोई भी जानवर ही क्यों नहीं हो, प्रेम का रूप भी हो। यदि आपमें उसके लिए तड़प है, तो वही तड़प आपको हर भौतिक – आध्यात्मिक क्षेत्र में सफलता दिला सकता है।

 

इस मार्ग का आधार सूत्र अत्यंत प्राचीनतम तन्त्र के एक गोपनीय और लुप्तप्राय मार्ग से जुड़ा है। इस पर गुरुदेव श्री प्रेम कुमार शर्मा ने अनेक साधनात्मक प्रयोगों का परिक्षण करने हेतु यहाँ वर्णित है। यह तन्त्र का मार्ग है, पर घरेलु , सरल और बिना व्यय का है। बच्चे तक इसका चमत्कारिक लाभ उठा सकता है।

सबसे पहले हम प्रेम का प्रणयरूप , उसकी सफलता – असफलता को जानने की विधि , आनेवाली समस्याओं को जानने के विधि और समस्याओं के निदान की विधि बतायेंगे। साधनात्मक  विधियों का ज्ञान इसके बाद ही उचित रूप से हो सकेगा।

 

 

सम्पर्क करें – 8090147878

Email – info@dharmalay.com

Leave a Reply

Top