आप यहाँ हैं
धर्मालय > दिव्यास्त्र और दिव्य गुटिकाएं > पुष्पक विमान बनाने की विधि

पुष्पक विमान बनाने की विधि

श्री यंत्र एक विशेष प्रकार के सर्किट का ब्लूप्रिंट है। उस सर्किट में ही तमाम प्राकृतिक इकाइयों की उत्पत्ति होती है। इस सर्किट से ब्रह्मांडीय ऊर्जा के द्वारा अनन्त प्रकार के यंत्र बनाये जा सकते है। हमारे मुर्खता ये है कि हम उसे धुप –दीप दिखाते है। उसको क्रियान्वित नहीं करते। फिर भी हम भारतवासी अपने को बुद्धिमान कहते है |

यह सनातनधर्म के मूल ऊर्जा व्यवस्था का ब्लूप्रिंट है। प्रकृति में समस्त उत्पादन इसी रूप में होता है |

धार्मिक धुप दीप दिखा रहे है; यूनिवर्सिटीयाँ और विद्वान् उपहास उड़ा रहे है, सरकारे केवल वोट के लिए उपयोगी बातें सुनती है।
इसीलिए सबकुछ होते हुए भी हम कंगाल है। एक प्राचीन श्लोक के अनुसार यह विमान एक ऋषि द्वारा बनाया गया था।

इसे बनाने का ब्लूप्रिंट सुरक्षित है। हमारे पास इसके प्रयोग के लिए धन एवं साधन का अभाव हैं । अतः यह केवल पेपर वर्क में ही उपलब्ध है। भारत सरकार की पेटेंट व्यवस्था नकारा है और वह इतने धन की मांग होती है, जो एक रेसेअर्चेर को इक्कठा करना असंभव हैं । उसपर भी जब एक सांसद लोकसभा में यह प्रश्न उठाता है कि हमारे वैज्ञानिकों को पेटेंट के लिए 15 वर्ष तक इंतज़ार करना होता है, तो रही सही हिम्मत भी जवाब दे जाती है । इसलिए गुरूजी ने इस ब्लूप्रिंट को सुरक्षित रखा है। हमारी संस्था के पास साधन होगा, तो इसपर प्रयोग किये जायेंगे।

11 thoughts on “पुष्पक विमान बनाने की विधि

  1. पुष्पमित्र विमान हेतु तैयार हूँ । मिल सकता है क्या

    1. इसके लिए आप अपना पारिचय भेजिए, यह खाका मेरे दिमाग में एक हफ्ता परिश्रम करने से बन जाएगा , पर आप हैं कौन? और यह विमान बनाने के लिए इंजीनियरिंग योग्यता और धन , वर्कशॉप इसकी क्या व्यवस्था है? कृपया पूरा डिटेल्स भेजे; यह एक रिसर्च आइटम हैं , बच्चों का फार्मूला नहीं! योजना को कार्यान्वित करने वाले व्याक्ति की योग्यता एवं साधन को जानना अत्यंत आवशयक होता है|

      1. माननीय आविष्कारक जी, मैं चाहती हूँ कि आप अपने इस रिसर्च का पेटेंट अवश्य कराएं.
        मैं वर्तमान में कर्नाटक में एक कंपनी में बतौर मैकेनिकल इंजिनियर कार्यरत हूँ.
        क्या मैं आपके पेटेंट सम्बन्धी कार्य के लिए आवश्यक रुपयों की मात्रा जान सकती हूँ?
        Pl contact me after 7PM evening.

        Thanks for letting me comment on your post.

  2. Jo viman bda bnaya ja skta hai wo chhota bhi ban skta hai…jaise prototype…to kyu na pehle ek chhote roop me bnakr aap sb try krte…kosis kariye…kya aap shri yantra ke circuit ko smjha skte hain…main banaras hindu university me physics ka research scholar hoon…main surya vigyaan ko lekr utsuk hoon aur optics ke basis pr use proove krne ka prayas kr rha hoon…kya aap shri yantra ke circuit diagramm ko bta skte hain…may be it helps me in my research field

  3. pushpak viman aur shri yantra sunane me atpata lagata hai. par shri yantra hum ghar me lagate hai per uske bare me detail jankari kisiko malum nahi hai. us par risarch karne se vaidik chijo ke sambadh ke bare me (jaise ki pushpak viman) jankari mil sakti hai.

  4. आपके कई पोस्ट दुर्लभ हैं जैसे पारा गुटिका, दिव्यास्त्र, पुष्पक विमान
    जिनके बारे में सुना और पड़ा है पर पूर्ण प्रक्रिया प्राप्त नहीँ होती
    यदि आप उचित समझें तो में आपके कुछ फार्मूलों पर आपके साथ कार्य करना चाहूँगा कियोंकि में कुछ दुर्लभ कार्य करने को बेहद उत्सुक हूँ
    और आपके दिशा निर्देश से “असम्भतुल्य कार्य” करने का साहस और क्षमता रखता हूँ /
    मैं-
    डॉ. नगेन्द्र सिंह राघव
    (B.Sc.,LL.M.,Ph.D.in Law)
    जिला-सम्भल यूपी
    09997994199

    1. सबसे पहले बिजली पर प्रयोग जरूरी है ,पर इसमें मोटा पैसा चाहिय .धन लगाने के लिए तो कई आये ,पर वे धन के प्रॉफिट के नही रिसर्च के हिस्सेदारी बनाना चाहते थे और यह मुझे मंजूर नहीं है .

  5. महोदय कृपया मुझे आपका adress और mobile no मेरे email id पर भेज दिजीये

Leave a Reply

Top