आप यहाँ हैं
धर्मालय > ज्योतिष विद्या > ग्रहों की मित्रता – शत्रुता

ग्रहों की मित्रता – शत्रुता

मित्र –

  1. सूर्य के मित्र – वृ. मं चन्द्र
  2. चंद्रमा के मित्र – सूर्य बुध
  3. मंगल के मित्र – सू. च. वृ.
  4. बुध के मित्र – सूर्य, शुक्र, राहु,
  5. बृहस्पति के मित्र – सू. च. मं
  6. शुक्र के मित्र – श. बु. के.
  7. शनि के मित्र – बुध-शुक्र-राहु
  8. राहु के मित्र – बु. श. के.
  9. केतु के मित्र – शु. राहु

शत्रु –

  1. सूर्य – शुक्र, शनि, राहु
  2. चन्द्र – केतु, राहु
  3. मंगल – बुध, केतु
  4. बुध – चंद्रमा
  5. बृहस्पति – शुक्र, बुध
  6. शुक्र – सूर्य , चन्द्र, राहु
  7. शनि – सूर्य , चन्द्र , मंगल
  8. राहु – सूर्य , शुक्र, मंगल
  9. केतु – चन्द्र , मंगल

सामान्य –

  • सूर्य- बुध
  • चन्द्र – शुक्र, शनि , मंगल , बृहस्पति
  • मंगल – शुक्र, शनि
  • बुध – शनि , मंगल, बृहस्पति, केतु
  • बृहस्पति – रा. के. शनि
  • शुक्र – मं, बृहस्पति
  • शनि- केतु ,बृहस्पति
  • राहु – बृहस्पति , चंद्रमा ,
  • केतु – वृ. श, बु. सू

तात्कालिक मित्रता- शत्रुता

मित्रता – कुंडली में 2, 3, 4, 5, 10, 11, 12, में बैठे ग्रह तात्कालिक मित्र होते है।

शत्रु – 1, 5,6,7, 8 एवं भावों में बैठे ग्रह आपस में शत्रु होते है।

 

नोट – किसी भी खाने को खाना – 1 मान कर मित्रता –शत्रुता के लिए यही सूत्र प्रयुक्त होता है।

Email- info@dharmalay.com

12 राशि के चरित्रगत फल – अगली पोस्टिंग

3 thoughts on “ग्रहों की मित्रता – शत्रुता

  1. My name is Vikram Arora. Date of birth 09.10.1980 time 11.15am Place Fazilka Punjab .
    Karobar ke bare me puchna h jo bi kam karta hu bo chalta nahi. koi upaye batye.

Leave a Reply

Top