सिद्धियाँ कैसे प्राप्त करें?

धर्मालय के प्रसार में सहयोग करें

मेरे पास प्रतिदिन दर्जनों फोन ऐसे व्यक्तियों के आते है; जो अलौकिक सिद्धियों की प्राप्ति चाहते हैं। उनके कुछ प्रश्न भी साथ होते हैं। जैसे-

1.        हम ………….. की सिद्धि प्राप्त करना चाहते हैं; कैसे करें?

2.        हम आप से मिलना चाहते हैं कैसे मिले?

3.        क्या आप ……………..की सिद्धि करवा देंगे?

4.        सिद्धियों से हमे क्या प्राप्त हो सकता है?

5.        क्या आपने कोई सिद्धि की हैं?

यद्यपि हमने इन प्रश्नों का उत्तर ‘धर्मालय’ के सिद्धि साधनाओं के गुप्त नियम में दे रखे हैं; परन्तु उनको पढने की जहमत कोई नहीं उठाता। इन प्रश्नों के ऊतर इसलिए भी आवशयक हो गये हैं कि बहुत शीघ्र हमारे सभी पेजों , ग्रुपों  एवं फेसबुक अकाउंट पर रहस्यमय सिद्धियों की पूरी विधि, प्रक्रिया, वैज्ञानिकता, परिक्षण के बिंदु प्रसारित होने वाले हैं । जो पहले से साधना कार रहे हैं; वे इसका लाभ घर पर भी उठा सकते हैं।

इनमें से 5 वाँ प्रश्न का उत्तर धर्मालय के ज्ञान क्षेत्र के “कौन हूँ मैं?’ नामक शीर्षक में है।

दूसरे प्रश्न के संदर्भ में आप स्वयं सोचें कि यदि दिन भर में 100 व्यक्ति फोन करें कि मैं आपसे मिलना चाहता हूँ (जबकि यह संख्या दो गुणी है); तो आप क्या करेंगे? और क्या उत्तर देंगे। इसलिए अच्छा होगा कि हमारे ई-मेल (info@dharmalay.com) पर विषय बता कर घर बैठे बात चीत कर लें। अति आवश्यक हो जाए, तो बताईये क्यों मिलना अति आवश्यक है? तभी विचार किया जा सकता हैं।

 पहले, तीसरे, चौथे प्रश्न का ऊतर हम एक साथ दे रहे हैं। सिद्धियों का प्रैक्टिकल क्षेत्र अत्यंत जटिल होता है। प्रारंभ में सम्पूर्ण बातों को A B C D से बताना और सारी आने वाली कठिनाईयों को दूर करवाना  सरल नहीं है। यह एक समय लेने वाला और परिश्रम का  काम है। हमने फैसला किया है कि जितना कुछ शब्दों में समझाया जा सकता हैं; हम सम्पूर्ण विवरण बतायेंगे। हम कुछ भी छुपायेंगे नहीं , ताकि जो भी लाभ उठाना चाहे, उठा लें। ये सारी तकनीकी और विधियां मेरी अपनी हैं ; इसलिए मैं किसी भी गुरु-परम्परा की शपथ से बंधा नहीं हूँ।

 प्रश्न यह भी है कि सभी प्रकार की सिद्धियाँ मैं कैसे करवा सकता हूँ?

तो इसका आध्यात्मिक उत्तर यह है कि यह सदाशिव से ही सभी सिद्धि प्रक्रिया, तन्त्र-मंत्र की उत्पत्ति होती हैं और उनका वरदान मुझे प्राप्त हैं।

वैज्ञानिक उत्तर यह है कि सभी प्रकार की सिद्धियों में समय काल, माला , दीपक, मंत्र, ध्यानरूप , वस्त्र रंग, समिधा, हवन सामग्री, आदि का ही वर्गभेद से परिवर्त्तन होता है। आंतरिक प्रक्रिया सबकी एक ही हैं। जो इसे जानता है और जिसे वर्गभेद का ज्ञान है; वह किसी की भी सिद्धि करा सकता है। विशेष जानने के लिए धर्मालय का ‘सिद्धि साधनाओं के गुप्त नियम’ पढें।

धर्मालय के प्रसार में सहयोग करें

6 Comments on “सिद्धियाँ कैसे प्राप्त करें?”

  1. सर ये काल कपाल महाकाल ग्रुप किस पर है? फेसबुक पर या वाट्सप पर। बताने की कृपा करें।

  2. सादर प्रणाम आपको सर । बहुत अच्छा कार्य आपने किया है मैंने लगभग आपके सारे आर्टिकल पढ़े हैं बहुत सुंदर व सहज ज्ञान है आपका बहुत बहुत आभार ।
    श्रीमान मैं नई दिल्ली से हूँ आप मुझे शिष्य बनाए न बनाए मेरे परम ह्रदय में आप गुरु है आपको सादर प्रणाम व अभिनंदन करता हूँ ।
    आपकी क्रपा का अभिलाषी।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *